May 20, 2024
पपीता की तासीर ठंडी या गरम

कैसी होती है पपीता की तासीर ठण्डी या गरम खाने से पहले जाने

आखिर कैसी होती है पपीता की तासीर और क्यों है इसके बारे में जानना आवश्यक और कब इसे खाना रहता है सबसे अच्छा ? – इन सब सवालो के जवाब चलिये जानते है।

पपीता की तासीर कैसी होती है ? (Papaya Ki Taseer)

पपीता की तासीर (papaya ki taseer)
Photo by Any Lane on Pexels.com

कच्चा और पका पपीता की तासीर गर्म होती है इसीलिए इसका उपयोग सर्दियों में अच्छा होता है।
अनेक व्यक्तियों की फलो में पहली पसंद होता है पपीता इसीलिए वे लोग इसे बहुत शौक से खाते है लेकिन हम आपको बता दें की कोई भी फल उचित मात्रा में ही खाना चाहिये। वैसे ये फल पोषक तत्वों से भरपूर होता है जैसे – आयरन, पोटैशियम, फाइबर, विटामिन C, आदि अच्छी मात्रा में पाये जाते है।

यह भी पढ़े : पालक खाने से रोगो का इलाज कैसे होता है ?

आम तौर पर कच्चा पपीता सब्जी के रूप में प्रयोग किया जाता है और पकने पर इसे फल के रुप में खाया जाता है। इसकी सब्जी भी बहुत पौष्टिक होती है इसीलिये इसकी सब्जी भी अनेक रोगो में खायी जाती है।

See also  अंजीर(Fig) की तासीर कैसी होती है या गूलर की तासीर कैसी होती है ?

कब इसे खाना रहता है सबसे अच्छा ?

वैसे तो इसे आप कभी भी खा सकते है लेकिन यदि आप इसे सुबह में खाली पेट खाते है तो इसका ज्यादा फायदा देखने को मिलता है। इसे खाने से पाचन तंत्र बहुत अच्छा होता है और पेट साफ़ होता है। ह्रदय से सम्बंधित रोगो में भी इसके बहुत लाभ होते है। जिनका पेट सुबह ठीक से साफ़ न होता हो तो उन्हें इसका सेवन अवश्य करना चाहिये।

ध्यान रखें की पपीता की तासीर गर्म होने कारण इसका उपयोग पित्त प्रकृति वाले ज्यादा मात्रा में न करें और जिन्हें डायरिया हो तो वो भी इसका सेवन डॉक्टर से पूछ कर ही करें।

यह भी पढ़े : स्वास्थ्य के लिये टमाटर खाने के लाभ

तो ये आपने अच्छे से जान लिया की पपीता की तासीर कैसी होती है और साथ ही इसके कुछ फायदों के बारे में और कब इसे खाना रहता है सबसे अच्छा।