April 24, 2024
Chestnut : सिंघाड़े की तासीर कैसी होती है

सिंघाड़े (Chestnut)की तासीर कैसी होती है – गर्म होती है या ठंडी

सिंघाड़े की तासीर कैसी होती है ये हम आज के लेख में जानेंगे। किसी भी फल या सब्जी की तासीर या प्रकृति जानकर खाना ज्यादा अच्छा होता है क्योंकि इससे हमें पता चल जाता है की ये हमें खाना चाहिए या नहीं जिससे हमें स्वास्थ्य की प्राप्ति हो।

सिंघाड़े की तासीर कैसी होती है ? (Chestnut Ki Taseer)

सिंघाड़े की तासीर गर्म होती है इसीलिये इसे ठण्ड के मौसम में खाना बहुत अच्छा होता है और ठण्ड में इससे हमारे शरीर को गर्मी मिलती है। इसके उपयोग से सर्दी, जुकाम, खाँसी से राहत मिलती है इसकी प्रकृति गर्म होने की वजह से यह ठण्ड के कारण होने वाली सभी बीमारियों में लाभदायक होता है।

यह भी पढ़े : क्या आलू के चिप्स खाते है आप तो यह जाने

हमारे शरीर के लिए तो इसे खाने से अनेक लाभ होते है जैसे इससे वात और कफ दोष दूर होते है। इसके नियमित सेवन से रक्तचाप कण्ट्रोल में रहता है और हृदय को यह मजबूती प्रदान करता है। इसमें आयरन, प्रोटीन आदि तत्व भी अच्छी मात्रा में होते है तो इससे खून भी बढ़ता है और अनेक रोगो में इसके सेवन से बहुत लाभ होता है।

See also  Sugar : चीनी एक जहर ~ एक अभिशाप | सफेद चीनी खाने के नुकसान

इस प्रकार सिंघाड़े की तासीर गर्म, शुष्क व तापजनक होती है जो कई रोगों में लाभदायक होता है।

क्या सिंघाड़े को उबालकर खा सकते है बिना किसी दिक्कत के ?

जी हाँ, आप सिंघाड़े को उबालकर खा सकते है क्योंकि इसे इस तरह से खाने से ये आसानी से हमारे पाचन तंत्र के द्वारा पचा लिया जाता है।