May 20, 2024
heart attack ke lakshan

Heart Attack आने से पहले मिलते है ये 5 लक्षण, ना करना नजरअंदाज

आज के समय में हार्ट से संबंधित रोग एक आम समस्या हो चुकी है जिससे अनेको लोग ग्रषित रहते है। हार्ट के रोगो में से एक प्रमुख रोग है हार्ट अटैक जिसके कारण हर साल अनेको लोगो की मृत्यु होती है लेकिन क्या आप जानते है की हमारा शरीर हार्ट अटैक आने से पहले कौन से संकेत देता है।

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के अनुसार हृदय रोग से हर साल 1.79 करोड़ लोगो की मौते होती है और सिर्फ भारत में हर साल लगभग 20 लाख मामले दिल के दौरे के होते है जो की एक बहुत बड़ा आकड़ा है। आजकल लोगो के खानपान और रहन सहन का तरीका बिलकुल अव्यवस्थित हो चुका है जिसके कारण हमारे शरीर में दूषित तत्व बढ़ रहे है और शरीर के अंग कमजोर हो रहे है।

यह भी पढ़े : क्या आप पीते है अदरक की चाय, जाने नुकसान

See also  चीकू की तासीर गर्म होती है या ठंडी - अभी जानें (Chiku)

हृदय आघात (Heart Attack)

हृदय हमारे शरीर का एक बहुत ही महत्वपूर्ण अंग है क्योंकि पूरे शरीर में रक्त के प्रवाह को बनाये रखने में ये ही सहायक है। हृदय आघात या हार्ट अटैक तब आता है जब हृदय तक जो खून पहुँचता है वह रुक जाता है। इसके अनेक कारण हो सकते है जैसे कोलेस्ट्रॉल, वसा या कोई अन्य पदार्थ हृदय तक खून पहुँचाने वाली कोरोनरी धमनियों में प्लेक बनाकर खून को रोकते है। और जब हृदय तक खून नहीं पहुँचता है या ऑक्सीजन नहीं पहुँचता है तो हृदय आघात के कारण व्यक्ति की मृत्यु हो जाती है।

Heart Attack आने से पहले के लक्षण क्या होते है ?

हार्ट अटैक या हृदय आघात अचानक से आता है इसी वजह से लोग इससे ज्यादा डरते है लेकिन हार्ट अटैक के लक्षण हमें बहुत समय पहले से ही मिलने लगते है। ये संकेत अलग अलग व्यक्ति के अनुसार अलग हो सकते है। तो चलो अब जान लेते है ये लक्षण :

heart attack ke lakshan

सीने में दर्द

यह एक मुख्य लक्षण है इस रोग का। इसमें व्यक्ति को ऐसा लगता है जैसे उसके दिल पर किसी ने कोई भारी वजन रख दिया हो। उसकी छाती पर दबाब बढ़ता है, जकड़न महसूस होती है।

See also  अल्जाइमर रोग: क्या होता है मस्तिष्क के अंदर जिससे जीवन जीना हो जाता है दुश्वार

यह भी पढ़े : एक चम्मच खाने से हमारे लिये शहद के लाभ

साँस की तकलीफ

साँस लेने में तकलीफ सीने में दर्द होने से पहले से ही शुरू हो सकती है तो अगर किसी को साँस लेने में दिक्कत हो तो चिकित्सक को अवश्य दिखाये क्योंकि स्वास ही हमारे प्राण है।

कमजोरी या बेहोशी महसूस

वैसे तो एक लक्षण कई वजह से प्रकट हो सकता है जैसे पानी की कमी के कारण भी ऐसा लग सकता है लेकिन कमजोरी या बेहोशी का महसूस होना या चक्कर आना जैसे संकेत इस बीमारी में भी प्रकट हो सकते है।

गैस बनना या उबकाई आना

कई लोगो के अक्सर पेट से दिक्कत होना शुरू हो जाती है जैसे उनके पेट में गैस का अक्सर बनना, अपच की समस्या या उबकाई आना। चूँकि पेट के द्वारा ही हम ऊर्जा को प्राप्त कर सकते है तो अगर किसी के पेट में कोई समस्या हो तो उस व्यक्ति को अन्य बीमारियाँ लगने में भी देर नहीं लगती लेकिन बड़ी बीमारियों का पता अकसर लेट चलता है।

See also  1983 के विश्व कप विजेता कहते हैं कि प्रदर्शन कर रहे पहलवानों के प्रति किया गया व्यवहार 'ह्रदयविदारक और शर्मनाक' है।

यह भी पढ़े : किन किन रोगो में होता है टमाटर खाने से फायदा

असामान्य दिल की धड़कन

अगर किसी के दिल की धड़कन कभी भी असमान्य हो जाती हो जिसकी वजह से उसे बेचैनी होती हो और ये उसके साथ अकसर होता हो तो उसे डॉक्टर को अवश्य दिखाना चाहिये क्योंकि हो सकता है की उसके हृदय में कोई दिक्कत हो।

भारत में 2021 में हार्ट अटैक की वजह से हुई मौते (उम्र के अनुसार) :

उम्र मृत्यु संख्या मृत्यु प्रतिशत (%)
14 वर्ष से कम 650.2%
14 – 18 वर्ष 1240.4%
18 – 30 वर्ष25418.9%
30 – 45 वर्ष854430.0%
45 – 60 वर्ष1119039.3%
60 वर्ष से ऊपर 598521.0%

इन आंकड़ों को देखकर आपको पता चल गया होगा की 30 वर्ष के ऊपर के व्यक्तियों को ये रोग अधिक संख्या में होता है। तो सभी अपने स्वास्थ्य का ध्यान रखें।

यह भी पढ़े : हृदय के स्वास्थ्य के लिए किस प्रकार करें नींबू का उपयोग

अकसर पूछे जाने वाले प्रश्न (FAQ) :

Heart की मांसपेशियो को क्या कहते है ?

 हृदय या हार्ट की माँसपेशी को मायोकार्डियम(Myocardium) कहा जाता है। यह मांसपेशी तीन प्रकार की कशेरुक मांसपेशी ऊतकों में से एक है।